News & Updates

तेज धूप में वृक्ष की छाया जैसा अहसास कराती है अर्हं ध्यान की Devoid Covid Series

. .        वर्तमान समय में जब चारों तरफ भय, चिंता, आशंका और निराशा का वातावरण बना हुआ है, ऐसा लगता है भय और तनाव ने मानव समुदाय को बुरी तरह जकड़ लिया है। इसी निराशा और भय की स्थिति से मानव समुदाय को बाहर निकालने के लिए अर्हं ध्यान द्वारा शुरू की […]

5 अप्रैल 2021 से प्रतिदिन सुबह 5.30 बजे अर्हं ध्यान योग जिनवाणी चैनल पर

.        विश्व प्रसिद्ध अर्हं ध्यान योग देखिए, सीखिए, अभ्यास कीजिए, अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाइये, अपने को शारारिक रुप से स्वस्थ, मानसिक रुप से शान्त, तनाव मुक्त और भावात्मक रुप से मजबूत बनाने में अपनी स्वयं की सहायता कीजिये। . NEWS HEADLINES महावीर जयन्ती से पूर्व, वर्तमान शासक नायक भगवान महावीर की […]

परम पूज्य मुनि श्री प्रणम्य सागर जी महाराज ने नई स्तुति की रचना कर प्राकृत साहित्य को समृद्ध बनाया, जिसने भी इसे पढ़ा, सुना, उसका मन हर्षाया

.        परम पूज्य मुनि श्री प्रणम्य सागर जी महाराज का प्राकृत भाषा के प्रचार, प्रसार और विकास  के लिए अभूतपूर्व योगदान रहा है, जो वर्तमान समय में भी निरंतर जारी है। पूज्य मुनि श्री ने एक तरफ अनेक माध्यमों से, हमारी प्राचीन भाषा प्राकृत को जन-जन तक पहुंचाया है, वहीं दूसरी तरफ, […]

गांधी जयंती के अवसर पर, माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की उपस्थिति में आयोजित सर्वधर्म प्रार्थना सभा में
परम पूज्य मुनि श्री प्रणम्य सागर जी महाराज द्वारा रचित जिनवाणी स्तुति का हुआ पाठ

                  गांधी जयंती को हमारे देश में अहिंसा दिवस के रूप में भी मनाया जाता है। 2 अक्टूबर को इस अवसर पर अनेक आयोजन किए जाते हैं। इस वर्ष भी गांधी जयन्ती एवं अहिंसा दिवस के अवसर पर राजघाट पर सर्वधर्म प्रार्थना सभा का आयोजन किया गया। सर्व धर्म […]

अर्हं स्व धर्म शिविर से मिले संस्कार एवं आदतें बने जीवन का Vision, शिविर के Recap से हो रहा है ऐसा Revision

. प्राय: देखा जाता है कि जब हम कुछ नया सीखते हैं तो हम उस समय बहुत interest से उस नई विषय वस्तु को सीखते हैं, लेकिन फिर धीरे-धीरे समय के साथ हम उसको भूल जाते हैं। कोई विद्यार्थी जब अपना कुछ अध्ययन संबंधी पाठ याद करता है तो वह भी कुछ ही दिन में […]

इस पर्यूषण पर्व पर श्रावकों को नहीं होना पड़ा निराश, virtual साधना शिविर से भक्तों में छा रहा है उत्साह और उल्लास

                  भाद्रपद मास में आने वाला पर्यूषण पर्व, दशलक्षण पर्व प्रमुख जैन पर्व माना जाता है। जैन श्रावक इन दिनों में अपना समय व्रत, उपवास, नियम, संयम आदि द्वारा साधना करने में लगाते हैं। इसके साथ ही वे देव पूजा, वंदना, भक्ति द्वारा अपने लिए पुण्य अर्जन करते […]

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.